FeaturedUttar pradesh

प्रतापगढ़ में भीषण सड़क हादसा, वाहन की टक्‍कर से बाइक सवार दो सगे भाइयों की मौत

यूपी। यूपी के प्रतापगढ़ जनपद में मंगलवार की रात भीषण सड़क हादसा हो गया। इस दुर्घटना में दो सगे भाइयों की मौत हो गई। हादसा लालगंज कोतवाली इलाके में हुआ। अज्ञात वाहन ने बाइक में टक्‍कर मारी, जिससे उस पर सवार एक भाई की मौके पर ही जान गई। वहीं दूसरा भाई गंभीर रूप से जख्‍मी हो गया था। राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस घायल को लेकर अस्‍पताल पहुंची। इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई है।

दीपावली मनाने अपने घर जा रहे थे दोनों भाई

अंतू थाना क्षेत्र के चौखट पूरे अंतिम गांव निवासी भास्कर सिंह नगर पालिका में कर्मचारी हैं। उनके दो पुत्र अंकित सिंह (30) हर्षित सिंह (26) लखनऊ में रहकर प्राइवेट नौकरी करते थे। दोनों भाई अपने परिवार के साथ दीपावली पर्व मनाने के लिए मंगलवार की रात करीब 12 बजे लखनऊ से प्रतापगढ़ के लिए आ रहे थे। लीलापुर चौकी क्षेत्र के रानीगंज अजगरा के पास अज्ञात वाहन की टक्कर से दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए।

हादसे के बाद अज्ञात वाहन लेकर चालक फरार

हादसे में हर्षित और अंकित गंभीर रूप से जख्‍मी हो गए। सूचना पुलिस को राहगीरों ने दी। कुछ ही देर में घटनास्‍थल पर पुलिस चौकी प्रभारी निकेत भारद्वाज फोर्स के साथ पहुंचे। दोनों घायलों को जिला चिकित्‍सालय ले जाया गया। वहां दोनों ने दम तोड़ दिया। चौकी प्रभारी ने बताया मृतकों का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, तहरीर मिलने पर विधिक कार्यवाही की जाएगी। बोले कि जिस वाहन से टक्‍कर हुई है, उसका पता लगाया जा रहा है। जिला चिकित्सालय में इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई।

अंकित की एक वर्ष पूर्व हुई थी शादी, हर्षित अविवाहित था

उधर अंकित और हर्षित सिंह की मौत की खबर पुलिस ने उनके परिवार के सदस्‍यों को दी। इससे घर में कोहराम मच गया। बिलखते हुए परिवार के लोग अस्‍पताल पहुंचे। अंकित सिंह की एक वर्ष पूर्व शादी हुई थी, जबकि हर्षित अविवाहित था। दो सगे भाइयों की मौत की सूचना मिलते ही आसपास के लोग उनके घर शोक संवेदना प्रकट करने के लिए पहुंचे।

फंदे से लटककर सब्जी विक्रेता ने दी जान

प्रयागराज में कर्नलगंज थाना क्षेत्र के कटरा स्थित फकीरागंज मोहल्ले में सब्जी विक्रेता सूरज उर्फ काशी (30) ने फंदे से लटककर जान दे दी। मंगलवार सुबह घरवालों को इसकी जानकारी हुई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे की तलाशी ली, लेकिन कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। उसने किन कारणों से यह कदम उठाया, इस बारे में स्वजन कुछ नहीं बता सके।

कुछ दिनों से सूरज गुमसुम रहता था

फकीरागंज मोहल्ला निवासी सूरज उर्फ काशी सब्जी विक्रता था। जिस समय उसने आत्‍महत्‍या की उस दौरान उसकी पत्नी अपने बच्चे के साथ मायके गई हुई है। सूरज नजर नहीं आया तो भाई आकाश ने उसे आवाज दी। कमरे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई आहट नहीं मिली। उसने खिड़की से देखा तो सूरज फंदे से लटक रहा था। वह चिल्लाने लगा। घर में मौजूद अन्य सदस्यों के साथ ही आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। कर्नलगंज पुलिस का कहना है कि सूरज ने किन कारणों से जान दी है, इस बारे में स्वजन कुछ नहीं बता सके। हालांकि, उन्होंने यह जरूर बताया कि कुछ दिनों से वह गुमसुम रहता था।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker