Uncategorized

जिले में कुल 101 परीक्षा केन्द्रों में 43250 परीक्षार्थी जे.पी.एस.सी प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होंगे : सूरज कुमार

जमशेदपुर। 19 सितंबर को होने वाले झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा (जेपीएससी) की प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा 2021 के सफल आयोजन को लेकर समाहरणालय सभागार, जमशेदपुर में सभी दंडाधिकारियों के लिए एकदिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया । कार्यशाला में उपस्थित सदस्यों को उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्री सूरज कुमार द्वारा परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए । उन्होने कहा कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थिति को देखते हुए सभी सेंटर पर कोविड प्रोटोकॉल का अक्षरश: अनुपालन करते हुए परीक्षा आयोजित की जाएगी ।

कार्यशाला में उपस्थित सदस्यों को परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था, सेंटर तक प्रश्न पत्र ससमय पहुंचाने, दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए ग्राउंड फ्लोर में बैठने की व्यवस्था, प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग करने, 4 स्थानों पर सीटिंग अरेंजमेंट का चार्ट चिपकाने तथा परीक्षार्थियों के लिए पंखा, पेयजल, शौचालय, साफ सफाई की व्यवस्था, महिला-पुरुष शौचालय की अलग अलग व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया ।

जिले में कुल 101 परीक्षा केन्द्रों में 43250 परीक्षार्थी जे.पी.एस.सी प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होंगे । जेपीएससी की प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। पहली पाली पूर्वाह्न 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा दूसरी पाली दोपहर बाद दो बजे से अपराह्न चार बजे तक होगी।

कार्यशाला में दिए गए अन्य महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश निम्नवत हैं-

पर्यवेक्षक-सह-स्टैटिक दंडाधिकारी का दायित्व परीक्षा की निष्पक्षता, नियमबद्धता और स्वच्छता को कायम रखना है और इस हेतु वे केन्द्राधीक्षक, वीक्षक एवं अभ्यर्थी हेतु जारी निर्देशों का भी सम्यक अध्ययन कर लें। परीक्षा के अन्तर्गत उस परीक्षा केन्द्र पर होने वाली प्रत्येक कार्रवाई के निरीक्षण व सत्यापन का दायित्व पर्यवेक्षक का है।

इसके साथ ही पर्यवेक्षक यह भी ध्यान रखेंगे कि परीक्षा केन्द्र पर नियुक्त कार्मिक पूरी निष्पक्षता एवं नियमबद्धता के साथ कार्य कर रहे है। इस हेतु विशेष रूप से केन्द्राधीक्षक और वीक्षक के कार्यों का निरीक्षण अवश्य सुनिश्चित करें। यह भी सुनिश्चित करें कि उनके द्वारा परीक्षा के विभिन्न निर्देशों एवं नियमों का समुचित पालन किया जा रहा है।

यह भी ध्यान रखना आवश्यक है कि जिस कक्ष में प्रश्न खोले जा रहे हैं या रखे गए हैं, उनमें फोटो कॉपी मशीन, फैक्स या स्कैनर मशीन नहीं है। साथ ही परीक्षार्थियों के पास मोबाइल फोन नहीं है। पाठ्य-पुस्तकें एवं परीक्षार्थी के बैग भी कक्ष से बाहर रखे जाने चाहिए।

इसके अतिरिक्त वे निम्न 3 बिन्दुओं पर विशेष ध्यान रखेंगे-

परीक्षा हेतु अनुमत वास्तविक अभ्यर्थी ही परीक्षा दे रहा है। परीक्षार्थीगण द्वारा नकल करने या कदाचार की कोशिशें नहीं की जा रही हैं। परीक्षार्थीगण के पास या उनके आसपास कोई प्रतिबंधित सामग्री नहीं है।

यदि कोई अभ्यर्थी नकल करता हुआ या नकल करने का प्रयास करता हुआ पाया जाए या उसके पास नकल में काम आने वाली सामग्री पाई जाए तो उसके विरुद्ध निर्धारित प्रपत्र पर आवश्यक रूप से कार्रवाई सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त यदि किसी अभ्यर्थी के स्थान पर कोई अन्य अभ्यर्थी परीक्षा देने या परीक्षा देने का प्रयास करता पाया जाए, तो उसके विरुद्ध भी पुलिस कार्रवाई करते हुए कृत कार्रवाई रिपोर्ट आयोग को प्रेषित की जाए।

पर्यवेक्षक को आयोग के नियंत्रण कक्षके साथ-साथ जिले के नियंत्रण कक्ष से सम्पर्क रहना है, ताकि किसी भी आवश्यक सूचना के आधार पर त्वरित रूप से कार्रवाई की जा सके। यदि किसी अभ्यर्थी या कार्मिक के विरूद्ध कदाचार कारित करने संबंधी सूचना किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा प्राप्त होती है, तब भी उसकी जांच कर वस्तुस्थिति का पता करेंगे।

यदि किसी बिन्दु पर पर्यवेक्षक सुझाव देना चाहते हैं, तो उसका उल्लेख भी अपनी रिपोर्ट में कर दें।

पर्यवेक्षक चूँकि परीक्षा केन्द्र पर पर्यवेक्षक व स्टैटिक दंडाधिकारी की भूमिका में है, अतः उन्हें परीक्षा तिथि को निर्धारित समय से 1 घंटा पूर्व पहुँच जाना होगा और परीक्षा समाप्ति के उपरांत समस्त परीक्षा सामग्री सीलबंद होकर प्रेषित होने के पश्चात् ही जाना होगा। यह ध्यान में रखें कि परीक्षा के संचालन का दायित्व मूलतः केन्द्राधीक्षक का है, और पर्यवेक्षक-सह-स्टैटिक दडाधिकारी की भूमिका मुख्यतः पर्यवेक्षणीय व मजिस्टेरियल है।

कार्यशाला में एडीएम लॉ एंड ऑर्डर श्री नन्दकिशोर लाल, जिला शिक्षा पदाधिकारी श्री एस.डी तिग्गा, डीसीएलआर श्री रविन्द्र गगरई, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी श्री रोहित कुमार, डुमरिया सीओ श्री रामनरेश सोनी, मानगो सीओ श्री हरीश चंद्र मुंडा, मानगो नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी श्री दीपक सहाय, जुगसलाई नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी श्री जगदीश यादव तथा अन्य संबंधित पदाधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker