FeaturedJamshedpurJharkhandNational

कैट ने प्रधानमंत्री मोदी से 22 जनवरी को राम राज्य दिवस एवं राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने का आग्रह किया


जमशेदपुर। कनफ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ( कैट) ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को आज एक ज्ञापन भेज कर आग्रह किया है कि भारतीय इतिहास के सबसे महान क्षणों में से एक, आगामी 22 जनवरी को अयोध्या धाम में श्री राम मंदिर के अभिषेक और उद्घाटन को सदैव जीवंत रखने के लिए इस दिन को *राम राज्य दिवस* घोषित किया जाए तथा प्रत्येक वर्ष 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश भी घोषित किया जाए।

प्रधानमंत्री श्री मोदी को भेजे एक ज्ञापन में कैट के राष्ट्रीय सचिव सुरेश सोन्थालिया ने कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम निस्संदेह भारत के सबसे महान राजा हैं जिनके शासन में भारत के लोग न केवल समृद्ध और स्वस्थ हुए बल्कि धर्म और भाईचारे में गहरी आस्था भी स्थापित हुई। वह काल भारत के स्वर्णिम सनातन इतिहास के महानतम कालों में से एक माना जाता है और चूँकि 22 जनवरी को श्री राम मंदिर का उद्घाटन हो रहा है, इसलिए उस दिन को राम राज्य की स्थापना का दिन मानते हुए इस दिन को राम राज्य दिवस घोषित किया जाना देशवासियों की आकांक्षाओं का सम्मान होगा।

सोन्थालिया ने कहा कि यह बेहद महत्वूर्ण दिन श्री राम के आदर्शों, नीतियों एवं मर्यादाओं को आत्मसात् करने एवं अपनाने के लिए तथा भारत में राम राज्य सरीखे शासन एवं प्रशासन की स्थापना के लिए सदैव देशवासियों को प्रेरित करेगा और इस दृष्टि से इस दिन के महत्व को देखते हुए 22 जनवरी को राम राज्य दिवस घोषित किया जाए तथा अन्य महत्वपूर्ण दिनों पर सार्वजनिक अवकाश की परंपरा को जारी रखते हुए इस दिन को सार्वजनिक अवकाश दिवस भी घोषित किया जाये।

कैट के अनुसार श्री राम मंदिर के उद्घाटन समारोह ने देश भर में लगभग 50 हज़ार करोड़ रुपये से अधिक के नये व्यापार के अवसर उत्पन्न किए हैं जो इस बात का स्पष्ट प्रतीक है कि देश भर में श्री राम मंदिर को लेकर ज़बरदस्त उत्साह और उमंग है।

सोन्थालिया ने कहा कि भारत का संपूर्ण व्यापारिक समुदाय, जो सनातन धर्म के लोकाचार और मूल्यों के प्रचार-प्रसार के मामले में हमेशा अग्रणी रहा है, इस महान दिन को मनाने के लिए बेहद उत्साहित है और इसलिए 1 जनवरी से 22 जनवरी तक कैट देश भर में एक राष्ट्रीय अभियान *हर शहर अयोध्या-घर घर अयोध्या* के अन्तर्गत अनेक कार्यक्रमों की एक राष्ट्रव्यापी श्रृंखला कल 1 जनवरी से प्रारंभ कर रहा है जिसे देश का व्यापारी वर्ग यह सुनिश्चित करेगा कि श्री राम का अभिषेक समारोह देश के अंतिम छोर तक पहुंचे।
कैटने बताया कि इस अभियान में देश के हज़ारों व्यापारी संगठन अपने बाज़ारों में दुकान-दुकान भ्रमण कर व्यापारियों एवं उनके कर्मचारियों को श्री राम ध्वजा, श्री राम पटका, स्टीकर, पोस्टर, श्री राम टोपी, श्री राम बैज देंगे वहीं 1 जनवरी से 22 जनवरी की अवधि के बीच देश भर के बाज़ारों में हज़ारों की संख्या में श्री राम संवाद, श्री राम चौकी, श्री राम फेरी सहित अनेक कार्यक्रम होंगे वहीं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर 22 जनवरी को देश भर के बाज़ारों में बृहद स्तर पर दीपावली मनाई जाएगी तथा व्यापारियों एवं उनके कर्मचारियों के घरों में श्री राम ज्योति भी जलाई जाएगी।इसके अलावा बाज़ारों एवं सार्वजनिक स्थानों पर एलईडी के माध्यम से 22 जनवरी को श्री अयोध्या धाम में होने वाले कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भी आम लोगों को दिखाया जाएगा।
सोन्थालिया ने यह भी कहा कि देश भर में फैले व्यापारी संगठनों से कैट ने यह भी आग्रह किया है कि बाज़ारों में श्री राम शोभा यात्रा भी निकाली जाये और श्री राम मंदिर की स्थापना की स्मृति के रूप में बड़े स्तर पर श्री राम मंदिर का मॉडल उपहारस्वरूप देने का भी एक अभियान चलाया जाये।
सोन्थालिया ने प्रधानमंत्री श्री मोदी को भेजे ज्ञापन में यह भी कहा कि भारत में एक बार फिर सनातन धर्म की महिमा और गौरव को बहाल करने के ध्वजवाहक होने के लिए देश का व्यापारिक समुदाय उनका अभिनंदन करता है।सनातन के गौरव को पुनः स्थापित करने में अपने अथक प्रयासों, प्रतिबद्धता और समर्पण से श्री मोदी ने अपना नाम सनातन भारत के सबसे महान सपूत के रूप में अंकित किया है जिसे युगों-युगों तक याद किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker