FeaturedJamshedpurJharkhand

उत्तर प्रदेश के आईआईटी बी एच यू की छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार देश को शर्मसार करने वाली घटना है : पूर्व सांसद सुमन महतो

झारखंड मुक्ति मोर्चा महिला समिति की ओर से जिला उपायुक्त के माध्यम से राष्ट्रपति को पत्र

जमशेदपुर। शनिवार को झारखण्ड महिला मोर्चा जिला समिति पुर्वी सिंहभूम की ओर से राष्ट्रपति, भारत नई दिल्ली को उपायुक्त पुर्वी सिंहभूम के माध्यम से महिलाओं की अस्मिता की रक्षा हेतु स्मार- पत्र भेजा गया । पत्र में सादर निवेदन पुवर्क कहना है कि विगत दिनों उत्तर प्रदेश स्थित राष्ट्रीय स्तर की उच्च कोटि की शैक्षणिक संख्या-llt( BHU) की छात्रा के साथ 1 नवंबर 2023 की मध्य रात्रि में सामुहिक गैंग रैप की शर्मनाक घटना को अंजाम दिया गया, इस घटना ने देश की बेटियों की इज्ज़त- आबरू एवं अस्मिता की रक्षा पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। इस घटना को अंजाम देने वाले सभी आरोपी भारत-सरकार के बाड़े- बड़े मंत्रियों के सहयोगी और भारत देश की तथाकथित राष्ट्र भक्त पार्टी भारतीय जनता पार्टी के lt सेल के पदाधिकारी(1) श्री कुणाल पाण्डेय (2) श्री आनंद उर्फ अभिषेक चौहार ओर(3) श्री सक्षम पटेल, रहें हैं। इस घटना बेहद शर्मनाक और तथाकथित राष्ट्र राष्ट्र भक्त पार्टी की गंदी सोच और राजनीति को दर्शाता है। इस घटना को भी राजनीति की आड़ में लीपा- पोती करने का प्रयास किया जा रहा था। अन्ततः जन आक्रोश और जन दबाव में आरोपियों को गिरफतार कर लिया गया है। ऐसी ही घटना पिछले दिनों भारत वर्ष की महिला पहलवानों के साथ भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष एवं भारतीय जनता पार्टी के सांसद श्री वृज भुषण शरन सिंह द्वारा किया गया आचरण और कारवाई सर्वथा निंदनीय और देश को शर्मसार करने वाली घटना है।इतनी बड़ी घटना के बाद भी देश के तथाकथित राष्ट्र भक्ति पार्टी के किसी भी नेता ने खेद तक व्यकत नहीं किया, जो देश की आधी आबादी महिलाओं का अपमान है। महामहिम से इस स्मार-पत्र के माध्यम से हम झारखंड मुक्ति मोर्चा जिला महिला इकाई झारखंड महिला मोर्चा पुर्वी सिंहभूम की ओर से मांग करती है कि (1) llT-BHU की छात्रा के साथ घटित घटना के आरोपियों पर स्पीडी ट्रायल चला कर दोषियों को कठोर सजा दिलाया जाय । (2)महिला कुश्ती के पहलवानों के साथ घटित घटनाओं के आरोपी सांसद की सदस्यता समाप्त करते हुए न्यायिक आयोग से जांच करा कर दोषी को दण्डित किया जाय। (3) महिलाओं पर हिंसा एवं आत्याचार के मामलों में सरकार विषेश कानुन बनाये ताकि महिलाओं की अस्मिता की रक्षा की जा सके। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित सुमन महतो, जिला अध्यक्ष चन्द्रावाती महतो, नीता सरकार, मायावती टुडू, झरना पाल, बाल्ही मारडी, दुर्गा बोयपाई, जोबा मारडी,रजनी दास, सविता दास, द्रोपति मुण्डा, कविता चौवरासिया, सवित्री भुईयां, नमिता राय, रीता राय, अन्जू सोरेन, रूमी जेबा थे।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker