FeaturedJamshedpur

सड़क सत्याग्रह आंदोलन की घोषणा के बाद पथ निर्माण विभाग रेस, दीपावली बाद पूरी होगी घोड़ाबंधा मुख्य सड़क री-टेंडर की प्रक्रिया

उपायुक्त के निर्देश के बाद पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता प्रक्रिया में जुटे

जमशेदपुर। पिछले दिनों भाजपा नेता अंकित आनंद ने घोड़ाबंधा और गोविंदपुर की मुख्य सड़क को कैंसर से भी अधिक खतरनाक बताते हुए छठ महापर्वों से पूर्व इसके समाधान को लेकर मांग उठाई थी। अंकित ने जिले के उपायुक्त सूरज कुमार और सांसद विद्युत वरण महतो को ट्वीट करते हुए इस दिशा में शीघ्र पहल सुनिश्चित करने का निवेदन किया था। अंकित आनंद ने ऐलान किया था कि यदि दीपावली और छठ महापर्व से पहले सड़क निर्माण के री-टेंडर की प्रक्रिया पूरी नहीं होगी तो “सड़क सत्याग्रह” के तहत ज़ोरदार आंदोलन की शुरुआत होगी। बुधवार को माननीय सांसद के प्रतिनिधि संजीव कुमार भी पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता से मिलने पहुँचें थे। उन्हें जानकारी देते हुए कार्यपालक अभियंता ने बताया कि विभाग इस मामले में उचित संज्ञान लेकर प्राथमिकता पूर्वक पहल कर रही है। बताया कि छठ महापर्व से पूर्व घोड़ाबंधा की जर्जर मुख्य के निर्माण के लिए री-टेंडर की प्रक्रिया पूर्ण हो जायेगी। मालूम हो कि घोड़ाबंधा में प्लज़ा मोड़ से घोड़ाबंधा स्कूल तक 1.5 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण होना है, वहीं गोविंदपुर चांदनी चौक से एनएच-33 को जोड़ने वाली पथ निर्माण विभाग की सड़क में जुड़ेगी। इसके लिए 3.20 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। छठ महापर्व से पहले इस मामले में विभागीय हस्तक्षेप ना होने की स्थिति में भाजपा नेता अंकित आनंद ने “सड़क सत्याग्रह” आंदोलन के तहत ज़ोरदार आंदोलन की चेतावनी दी थी। बुधवार को सांसद प्रतिनिधि संजीव कुमार इस मामले में पथ निर्माण विभाग के जिला स्तरीय पदाधिकारियों से मिले जिसके बाद सम्बंधित प्रगति की जानकारियां उन्हें दी गई। बताया गया कि जल्द ही री-टेंडर की प्रक्रिया पूरी हो जायेगी। अंकित आनंद ने बताया कि आसन्न त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए चंद स्वघोषित प्रत्याशी इस मामले में झूठी वाहवाही बटोरना चाहते हैं, जबकि वे लंबे समय से सोये हुए थें। सड़क सत्याग्रह की घोषणा के बाद से अचानक कईयों के कान खड़े हो गये और सियासी जमीन सरकता देख लोग मामले में क्रेडिट लेने के लिए दौड़ रहे हैं। अंकित आनंद ने इस दिशा में पहल करने के लिए घोड़ाबंधा और गोविंदपुर की जनता की ओर से डीसी सूरज कुमार सहित सांसद विद्युत वरण महतो और विशेष रूप से पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी के प्रति आभार जताया है। दूसरी ओर अंकित आनंद ने आश्वासन नहीं समाधान के नारे को दुहराते हुए कहा कि अब विभागीय आश्वासन से काम नहीं चलेगी, छठ महापर्व से पहले री-टेंडर की प्रक्रिया संपन्न हो किंतु सड़क पर उभरे बड़े गड्ढों को भरने के लिए उचित पहल हो ताकि छठ व्रतियों को पूजा में कठिनाई न हो।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker