FeaturedJamshedpurJharkhand

सैमसंग ने एआई टेक्नोलॉजी पर रिसर्च के लिए आईआईटी कानपुर से मिलाया हाथ

जमशेदपुर। सैमसंग ने आईआईटी कानपुर के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसके तहत ये दोनों संस्थान के इंजीनियर्स, प्रोफेसर, और छात्र मिलकर एआई रिसर्च पर काम करेंगे। सैमसंग आर एंड डी इंस्टीट्यूट, नोएडा (एसआरआई-नोएडा) ने प्रमुख विकास क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने हेतु पांच साल की अवधि के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर (आईआईटीके) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसमें आईआईटी कानपुर द्वारा संयुक्त अनुसंधान परियोजनाएं शामिल होंगी। छात्र, संकाय और सैमसंग इंजीनियर, छात्रों को उद्योग के लिए तैयार होने में मदद कर रहे हैं। ये अनुसंधान परियोजनाएं स्वास्थ्य, दृश्य, फ्रेमवर्क और बी2बी सुरक्षा जैसे क्षेत्रों और जेनरेटिव एआई और क्लाउड जैसे अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी क्षेत्रों तक फैलेंगी। अनुसंधान परियोजनाओं के अलावा, एमओयू एआई, क्लाउड और अन्य उभरती प्रौद्योगिकियों जैसे प्रमुख प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में सैमसंग इंजीनियरों को कौशल बढ़ाने के अवसर प्रदान करना चाहता है। एमओयू पर एसआरआई नोएडा के प्रबंध निदेशक क्युंग्युन रू एवं आईआईटी कानपुर के डीन, अनुसंधान और विकास प्रो. तरुण गुप्ता और आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रोफेसर एस. गणेश की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए गए हैं। मौके पर प्रोफेसर संदीप वर्मा, रसायन विज्ञान विभाग, आईआईटी कानपुर; प्रोफेसर तुषार संधान, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग, आईआईटी कानपुर; और सैमसंग के अन्य वरिष्ठ प्रतिनिधि भी मौजूद थे। इस संबंध में एसआरआई के प्रबंध निदेशक क्यूंगयुन रू ने कहा कि हम आईआईटी कानपुर के साथ इस सहयोगात्मक यात्रा को शुरू करने के लिए उत्साहित हैं। यह समझौता सैमसंग और आईआईटी कानपुर दोनों के विकास में योगदान देगा। आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रोफेसर एस. गणेश ने कहा कि यह समझौता ज्ञापन सैद्धांतिक ज्ञान और व्यावहारिक उद्योग समाधानों के बीच संबंध बनाते हुए शिक्षा और उद्योग के बीच अंतर को पाटने में आईआईटी कानपुर के अथक प्रयासों का पूरक है।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker