FeaturedJamshedpurJharkhand

श्रीराम मंदिर के तृतीय वर्षगांठ पर भव्य शोभायात्रा में उमड़ा भक्तों का जनसैलाब, शोभायात्रा पर लोगों ने बरसाए फूल, जय श्रीराम के नारों से गुंजायमान हुई लौहनगरी

पूर्व सीएम रघुवर दास ने मंदिर समिति के सदस्यों और लौहनगरीवासियों का जताया आभार, कहा कुछ असुरी शक्तियां भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल खड़ा करते हैं, रामचरितमानस को जलाने का कर रहे कुकृत्य

जमशेदपुर। सिदगोड़ा स्थित सूर्यधाम परिसर में बने श्रीराम मंदिर के तृतीय वर्षगांठ पर सूर्य मंदिर समिति द्वारा धूमधाम से शोभायात्रा निकाली गई। मंगलवार दोपहर करीब 4 बजे बिरसानगर क्षेत्र के जोन नंबर तीन स्थित कुंआ मैदान से सुसज्जित रथ पर मर्मज्ञ कथा वाचिका पूज्य पंडित गौरांगी गौरी जी, मनोरम झांकी, रामगढ़ की प्रसिद्ध बैंड-बाजा, डीजे संगीत व केसरिया ध्वजों के साथ निकाली गई भव्य शोभायात्रा में शहर के हजारों श्रद्धालुओं के संग राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री सह सूर्य मंदिर समिति के मुख्य संरक्षक रघुवर दास एवं संरक्षक चंद्रगुप्त सिंह मुख्यरूप से शामिल हुए। भगवान श्री राम की शोभा यात्रा को देखने और स्वागत करने के लिए सड़क के दोनों ओर भारी भीड़ खड़ी थी। महिलाएं, बच्चे, पुरुष सभी ने जय श्री राम के जयकारे लगाते हुए शोभा यात्रा पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। शोभा यात्रा में सजाई गई सुंदर झांकियों को निहारने सड़कों के दोनों तरफ श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटी रही।

शोभा यात्रा में पूर्व सीएम रघुवर दास ने माथे पर श्रीरामायण लेकर बिरसानगर से सूर्यधाम तक नंगे पाँव पैदल यात्रा की। शोभायात्रा की अगली पंक्ति में श्रीराम मंदिर के संस्थापक मुख्य संरक्षक श्री रघुवर दास और संरक्षक चंद्रगुप्त सिंह चल रहे थे। करीब 15 हजार महिलाओं ने शोभा यात्रा में भाग लिया। इस दौरान विभिन्न स्थानों पर सामाजिक संगठनों ने शिविर लगाकर सेवा प्रदान की। तो वहीं, शहरवासियों ने श्रीरामायण एवं शोभायात्रा पर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। पूरे रास्ते में आतिशबाजी, भक्तिमय संगीत और जय श्री राम के ओजस्वी नारों से पूरा क्षेत्र भगवामय हो गया। इससे पहले, बिरसानगर कुंआ मैदान से संकल्प के पश्चात शोभा यात्रा बारीडीह बाजार, बारीडीह गोलचक्कर, सिदगोड़ा 28 नंबर रोड होते हुए सूर्यधाम पहुँची। सूर्य मंदिर पहुंचने पर पूर्व सीएम रघुवर दास ने माथे पर श्रीरामायण को लेकर श्रीराम मंदिर में पूजा-अर्चना कर आशीर्वाद प्राप्त किया। इसके पश्चात, हनुमान जी की आरती की गई और भक्तों के बीच प्रसाद का वितरण किया गया। शोभा यात्रा के दौरान काफी आकर्षक नजारा रहा और पूरा क्षेत्र पुष्पों की खुशबू से विधमान रही।

रघुवर दास ने शहरवासी का जताया आभार: पूर्व सीएम सह सूर्य मंदिर कमेटी के मुख्य संरक्षक रघुवर दास ने भव्य एवं सफल शोभायात्रा के लिए शहरवासियों का आभार जताया। उन्होंने कहा कि मंदिर समिति, भाजपा कार्यकर्ता, युवा मोर्चा और मातृशक्ति के रूप में शामिल हुई माताओं-बहनों के समर्पण और भक्तिभाव से शोभायात्रा सफलतापूर्वक संपन्न हुई। प्रभु श्रीराम के महत्व का बखान करते हुए कहा कि प्रभु श्रीराम सिर्फ मर्यादा पुरुषोत्तम ही नही हैं। बल्कि भारतीय सभ्यता, संस्कृति और सामाजिक मूल्यों के प्रतीक हैं। आज असुरी शक्तियों द्वारा भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल खड़े किये जा रहे हैं, पवित्र रामचरित मानस को जलाने का कुकृत्य किये जा रहे हैं, यह भारतीय संस्कृति पर हमला करने की घृणित कोशिश है।
उन्होंने कहा कि भारत प्रभु श्रीराम का देश है। प्रभु श्रीराम ने समाज के वंचित, दलित, शोषित और उपेक्षित लोगों का साथ लेकर लंका पर विजय प्राप्त की थी। प्रभु श्रीराम ने हमें सिखाया है कि मनुष्य को किस तरह से मर्यादा में रहकर जीवन व्यतीत करना चाहिए। उनके जीवन ने हमें एक पुत्र, एक भाई, एक पति और एक राजा का कैसा आचरण करना चाहिए, इसकी सीख दी है। भगवान राम ने दीन-दुखियों, वनवासियों के कष्ट दूर करते हुए उन्हें संगठित करने का कार्य किया एव उस संगठित शक्ति के द्वारा समाज में व्याप्त बुराइयों को दूर किया।
श्री दास ने राम काज में सहयोग करने वाले सभी दानदाताओं को धन्यवाद व्यक्त करते करते हुए आभार जताया। उन्होंने जमशेदपुर की जनता, दुकानदार भाइयों एवं विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रति आभार व्यक्त किया।

सूर्य मंदिर समिति के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने 22 से 28 फ़रवरी तक सूर्य मंदिर परिसर के शंख मैदान में आयोजित हो रहे संगीतमय श्रीराम कथा में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होने की अपील लोगों से की। कहा कि प्रतिदिन दोपहर 3 बजे से श्री अयोध्याधम से पधार रहे मर्मज्ञ कथा वाचिका पूज्य पंडित गौरांगी गौरी जी कथा वाचन करेंगे।

शोभायात्रा में सूर्य मंदिर समिति के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह, अमरजीत सिंह राजा, संतोष यादव, शैलेश गुप्ता, शशिकांत सिंह, महामंत्री अखिलेश चौधरी, रूबी झा, कृष्ण मोहन सिंह, बंटी अग्रवाल, कंचन दत्ता, अधेन्दू बनर्जी, लक्ष्मीकांत सिंह, प्रेम झा, प्रमोद मिश्रा एवं तृतीय वर्षगांठ आयोजन समिति के संयोजक गुंजन यादव, मिथिलेश सिंह यादव, दिनेश कुमार, राकेश सिंह, कुलवंत सिंह बंटी, पवन अग्रवाल, कमलेश सिंह, खेमलाल चौधरी, संजीव सिंह, रामबाबू तिवारी, बबुआ सिंह, गुरुदेव सिंह राजा, कमलेश साहू, महेंद्र यादव, सुशांतो पांडा, चिंटू सिंह, बोल्टू सरकार, श्रीराम प्रसाद, बबलू गोप, श्रीकांत सिंह, संतोष ठाकुर, हेमंत सिंह, अजय सिंह, ध्रुव मिश्रा, सुरेश शर्मा, दीपक झा, प्रोबिर चटर्जी राणा, ज्ञान प्रकाश बिनोद सिंह, नारायण पोद्दार, कौस्तव रॉय, अमित अग्रवाल, धर्मेंद्र प्रसाद, बिनोद राय, संदीप शर्मा बौबी, मनोज वाजपेयी, सुनील पांडेय, रमेश विश्वकर्मा, अजीत कालिंदी, इकबाल सिंह, उमेश साव, सत्येंद्र रजक, अनुराग मिश्रा, मनीष पांडेय, नवजोत सिंह, रंजीत सिंह, शशि यादव, गौतम प्रसाद, जटाशंकर पांडेय, नीलू झा, बिमला साहू, शुशीला शर्मा, लक्ष्मी मिर्धा, रुपा देवी, सुधा यादव, रीना तिवारी, सीता सिंह, सरबजीत कौर, जयलक्ष्मी, राजपति देवी, मीणा सिन्हा, सुशीला देवी, प्रमिला देवी, राकेश साहू, निर्मल गोप, ऋषव सिंह, हन्नी परिहार, बंटी सिंह, अशोक सामंत, मृत्युंजय यादव, राकेश शर्मा, संतोष कुमार, राकेश राव, धीरज पासवान, ओंकार सिंह, राहुल कर्मकार, अनिल अग्रवाल, तापस कर्मकार समेत हजारों श्रद्धालु उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker