FeaturedJamshedpurJharkhandNational

बिहार में 10 गुना निवेश बढ़ाएगा अदाणी ग्रुप, सीमेंट मेन्यूफैक्चरिंग में करेगा प्रवेश

बिहार से रिश्ता होगा मजूबत : प्रणव अदाणी

मुस्कान
पटना। बिहार में निवेश आकर्षित करने के लिए आयोजित ‘बिहार बिजनेस कनेक्ट-2023’ सम्मेलन में पहुंचे अदाणी एंटरप्राइज के निदेशक प्रणव अदाणी ने आमंत्रित करने के लिए प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “मैं पटना आकर और 2023 बिहार बिजनेस कनेक्ट सम्मेलन में शामिल होकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं इस विशाल कार्यक्रम के आयोजन के लिए बिहार सरकार को बधाई देना चाहता हूं। इस आयोजन ने बिजनेस के सभी क्षेत्रों की प्रभावशाली हस्तियों को एक साथ लाने का काम किया है। यह नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के अपार व्यक्तिगत आकर्षण का प्रमाण है। आप बिहार को भारत के सबसे आकर्षक इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन में बदल रहे हैं। साल 2003 में, दुनिया के सबसे बड़े मुंद्रा पोर्ट के निजी रेल लिंक का उद्घाटन भी नीतीश कुमार ने किया था और निजी क्षेत्र के बंदरगाहों में रेल लिंक को बढ़ाने पर ज़ोर से दिया गया था। उस वक्त भी नीतीश विकास के विषय में काफी दूर की सोच रखते थे। इतना ही नहीं, 20 साल पहले जब नीतीश कुमार केंद्र में रेल मंत्री थे तब उन्होने इंटरनेट टिकट बुकिंग सिस्टम शुरू करके ट्रेन के अनुभव को पूरी तरह से बदल दिया था। आज यह दुनिया की सबसे बड़ी और व्यस्त ऑनलाइन रेलवे आरक्षण प्रणाली है। इस सिस्टम की सफलता ये बताती है कि नीतीश कुमार कितनी दूर की सोच रखते है।“

अगर बिहार की बात करें तो अदाणी समूह लॉजिस्टिक्स, गैस डिस्ट्रिब्यूशन और एग्री-लॉजिस्टिक्स सेक्टर में मौजूद है। इसमें लगभग 850 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट किया गया है और लगभग 3 हजार रोजगार के अवसर पैदा किए जा सकते हैं। इतना ही नहीं, इन्वेस्टमेंट 10 गुना बढ़ाकर 8,700 करोड़ रुपये करने की तैयारी हैं। इसके अलावा तीन अतिरिक्त क्षेत्रों में इन्वेस्टमेंट होगा और इससे 10 हजार प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा करेंगे।

अदाणी समूह गोदामों को 1 लाख वर्ग फुट से बढ़ाकर 65 लाख वर्ग फुट से अधिक करने के लिए 1,200 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट करेगा। दो बड़े गोदाम पटना में होगें और इससे 2000 लोगों को रोजगार के अवसर मिलेगा। इसके अलावा 6 जगहों पूर्णिया, बेगूसराय, दरभंगा, समस्तीपुर, किशनगंज और अररिया में अपनी स्टोरेज क्षमता को 1 लाख 50 हजार मीट्रिक टन से बढ़ाकर 2 लाख 75 हजार मीट्रिक टन करने के लिए एग्री-लॉजिस्टिक्स में 900 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट किया गया है। इससे भी 2,000 लोगों के लिए रोजगार मिलेगा। गया और नालंदा में अपने मौजूदा सिटी गैस डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क का विस्तार करने के लिए 200 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट किया जाएगा। अदाणी नए कॉम्प्रेस्ड बायोगैस प्लांट और ईवी चार्जिंग सेंटर भी बनाएंगे और जिसके जरिए 1500 लोगों को रोजगार मिलेगा।

अदाणी विल्मर को भी बिहार लाया जा रहा हैं। शुरुआती चरण में चक्की आटा प्लांट, आरएफएम प्लांट, सॉल्वेंट एक्सट्रैक्शन प्लांट, को-जेन पावर प्लांट के साथ ही सासाराम और रोहतास में पैडी प्रोसेसिंग प्लांट बनाने के लिए 800 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट किया जाएगा। ये प्लांट 200 लोगों को रोजगार देने का काम करेंगे।

बिहार में अदाणी समूह सीमेंट मेन्यूफैक्चरिंग में भी प्रवेश करेगा हैं। इसके लिए वारसलीगंज और महावल में 2 हजार 500 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट होगा। इसका टारगेट होगा कि साल भर में 10 मिलियन मीट्रिक टन का प्रोडक्शन हो सके। इस इन्वेस्टमेंट से लगभग 3,000 नौकरियाँ पैदा होने की उम्मीद है।

अब बिहार पारंपरिक बिजली मीटर से स्मार्ट मीटर की ओर बढ़ रहा है। स्मार्ट मीटर मैन्यूफैक्चरिंग तीसरा एरिया है जिसमें अदाणी इन्वेस्ट कर रहा हैं। सीवान, सारण, गोपालगंज, वैशाली और समस्तीपुर में बिजली खपत की निगरानी को ऑटोमैटिक करने के लिए 28 लाख से ज्यादा स्मार्ट मीटर लगाए जाएगें। इसके लिए 3,100 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट होगा और तकरीबन 2,000 लोगों को रोजगार देने में मदद मिलेगी।

बिहार बिजनेस कनेक्ट-2023 में इज़ ऑफ बिजनेस, सिंगल पॉइंट क्लियरेंस, वाजिब कीमतों पर जमीन और कुशल कामगार उपलब्ध कराने पर भी जोर दिया गया।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker