FeaturedJamshedpurJharkhand

प्रगति सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, बिरसानगर’ विद्यालय में ‘महाकवि सुब्रमण्यम भारती जंयती’ के शुभ अवसर पर ‘भारतीय भाषा महोत्सव’ मनाया गया

19 वीं शताब्दी के महाकवि सुब्रमण्यम भारती ने कहा था कि….
“भारत माता के तीस करोड़ चेहरे हैं, लेकिन शरीर एक है।
वे 18 भाषाएं बोलती हैं, लेकिन सोच एक हैं।”

जमशेदपुर। सोमवार को ‘सुब्रमण्यम भारती जयंती’ के शुभ अवसर पर ‘भारतीय भाषा महोत्सव’ हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्रीमती निशिपाल सूरी (गुलमोहर विद्यालय टेल्को की पूर्व वाइस प्रिंसिपल, लेखिका एवं शिक्षाविद्) उपस्थित रहीं। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि श्रीमती निशिपाल सूरी, विद्यालय के अध्यक्ष श्री भोला मंडल, उपाध्यक्ष श्री वी. जयशंकर, प्रधानाचार्य श्री सुरेश कुमार राय, समिति सदस्य श्री अजय प्रजापति, श्री सुरेश पंडित, श्रीमती सुधा प्रजापति, श्रीमती ममता श्रीवास्तव जी एवं बादल गोप ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर किया। प्रधानाचार्य श्री सुरेश कुमार राय ने अतिथियों का परिचय कराया एवं कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बताते हुए कहा कि हम उनके गुणों, प्रतिभाओं एवं उनके द्वारा किए गए कार्य को याद कर स्वयं में आत्मसात करने की कोशिश करें। विद्यालय के भैया/बहनों ने विभिन्न भाषाओं में उनकी जीवनी को प्रस्तुत किया। विभिन्न राज्यों के लोकनृत्य द्वारा पूरे देश को एकता के सूत्र में बांध दिया।विभिन्न व्यंजनों एवं कलाचित्रों की प्रदर्शनी आयोजित की गई । मुख्य अतिथि ने भैया बहनों का उत्साह वर्धन किया एवं कहा कि हमें अपने जीवन में धैर्य एवं विवेक के साथ आगे बढ़ना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन अजय कुमार मोदी जी के द्वारा किया गया। कार्यक्रम विद्यालय के सभी आचार्य एवं दीदी के सहयोग से सुमन दीदी जी एवं रिंकू दीदी के निर्देशन में संपन्न हुआ और धन्यवाद ज्ञापन अजय प्रजापति के द्वारा किया गया।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker