FeaturedJamshedpurJharkhand

चलती ट्रेन में संदिग्ध अवस्था से गायब हुआ जुगसलाई निवासी अविनाश प्रसाद का शव छत्तीसगढ़ के जामगांव नदी से बरामद

एमजीएम में पोस्टमार्टम के बाद हुआ अंतिम संस्कार

जमशेदपुर। 16 दिसम्बर को जुगसलाई काली स्थान रोड निवासी 32 वर्षीय अविनाश प्रसाद अपने 3 अन्य साथियों के साथ उज्जैन के लिए शालीमार भुज ट्रेन पकड़कर टाटानगर से रवाना हुआ। बी 2 का 24 सीट मृतक का कन्फर्म हुआ, जहाँ मृतक ने टी टी से बात कर अपनी सीट बी 6 कोच में 45 नंबर से बदल लिया और उसी सीट पर यात्रा कर रहा था। उसके अन्य दोस्त बी 8 कोच में थे तभी अचानक चलती ट्रेन में टी टी प्रेमचंद सिंह से अविनाश की बकझक हुई जहां टीटी द्वारा आर पी एफ को बुलाने की धमकी दी गई। इसके बाद अविनाश अपने कोच से रहस्यमय तरीके से गायब हो गया। जब उसके साथी उसे खोजते हुए सुबह उसके कोच पहुंचे तो अविनाश के बगल सफर कर रहे यात्री द्वारा अविनाश का मोबाइल उसके दोस्तों को सुपुर्द किया गया और अविनाश के संबंध में बताया गया टी टी से बकझक होने के बाद वाह चलती ट्रेन में ही इस कोच से अन्य कोच में चला गया। इसके बाद से लगातार अविनाश के दोस्त व परिजन अविनाश की खोजबीन कर रहे थे, पर अविनाश का कुछ पता नहीं चल पाया, 22 दिसंबर को अविनाश के परिजनों को जामगांव नदी में अविनाश के शव की जानकारी दी गई। जिसके बाद परिजन अविनाश के शव को रायगढ़ जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम करा कर जमशेदपुर जुगसलाई काली स्थान निवास स्थान पर पहुंचे। परिजनों द्वारा अविनाश की हत्या की बात बताई जा रही है। इस मामले में परिवार वालों द्वारा टी टी प्रेमचंद सिंह पर एफ आई आर दर्ज करने की बात कही गई है। अविनाश पेशे से इलेक्ट्रिशियन का कार्य करता था उसका 4 साल और 8 महीने का एक पुत्र है शव जुगसलाई पहुंचते ही पूरे जुगसलाई क्षेत्र में मातम पसर गया।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker