FeaturedJamshedpurJharkhand

गोपाल मैदान में 21 जनवरी को टुसू मेला का होगा आयोजन, होंगे कई आयोजन : आस्तिक महतो

जमशेदपुर : झारखंड वासी एकता मंच की ओर से इस वर्ष भी बिष्टुपुर गोपाल मैदान में आगामी 21 जनवरी (रविवार) को टुसू मेला का आयोजन किया जाएगा। हर वर्ष की तरह इस बार भी टुसू मेला में टुसू प्रतिमा चौड़ल लेकर आनेवाले प्रतिभागियों को पुरस्कार दिए जाएंगे। साथ ही बूढ़ी गाड़ी नाच प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करने वालों को भी नगद इनाम दिए जाएंगे। कुल मिलाकर मेला में आने वालों पर पुरस्कारों की बारिश होगी। उक्त जानकारी आज सोनारी निर्मल भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में मंच के संयोजक सह सांसद विद्युत वरण महतो तथा मुख्य संयोजक सह समाजसेवी आस्तिक महतो ने पत्रकारों को दी। उन्होंने बताया कि इसकी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। मेला में इस बार भी झारखंड के विभिन्न जिला सहित पश्चिम बंगाल तथा उड़ीसा के कई जिलों से प्रतिभागी शामिल होंगे। माना जा रहा है की लाखों की संख्या में इस बार लोग मेला में आएंगे तथा इसका आनंद उठाएंगे। सांसद ने बताया कि सुबह 10 बजे से प्रतिभागियों का आगमन मैदान में आरम्भ हो जाएगा। इस दौरान टुसू प्रतिमा, चौड़ल, बूढ़ी गाड़ी नाच के अलग अलग श्रेणियों में प्रतिभागियों को नकद पुरस्कार के अलावा सभी प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसकी शुरुआत वर्ष 2006 में पूर्व सांसद स्वर्गीय सुनील महतो में की थी, तभी से लेकर आज तक झारखंड की संस्कृति और परंपरा को कायम रखने के लिए हर वर्ष 21 जनवरी को ट्यूशन मेला का आयोजन किया जाता रहा है।

आस्तिक महतो ने बताया कि मेला में होनेवाली भीड़ को देखते हुए सभी सुरक्षात्मक उपाय किये जायेंगे। इसमे प्रशासन के साथ साथ मंच के कार्यकर्ता भी लोगों की सहूलियत अनुसार उपलब्ध रहेंगे. संवाददाता सम्मेलन में विद्युत महतो, आस्तिक महतो के साथ फणीन्द्र महतो, सुखदेव महतो, बबलू महतो, करमु हांसदा, युगल किशोर मुखी, सचिन महतो, सत्यनारायण महतो, हसीन अहमद, गोपाल महतो, चुनका मार्डी, नारायण महतो, कमल महतो, विजय महतो, अशोक महतो, ओपा सिंह, कैलाश सिंह, दिलजय बोस सहित कई सदस्य मौजूद थे,

टुसू प्रतिमा का पुरस्कार
प्रथम – 31 हज़ार रु, द्वितीय – 25 हज़ार रु, तृतीय -, 20 हज़ार रु, चतुर्थ – 15 हज़ार रु, पंचम – 11 हज़ार रु, छठा – 7 हज़ार रु, सातवां – 5 हज़ार रु।

चौड़ल का पुरस्कार
प्रथम – 25 हज़ार रु, द्वितीय – 20 हज़ार रु, तृतीय – 15 हज़ार रु, चतुर्थ – 5 हज़ार रु

बूढ़ी गाड़ी नाच का पुरस्कार
प्रथम – 15 हज़ार रु, द्वितीय – 11 हज़ार रु, तृतीय – 7 हज़ार रु, चतुर्थ – 5 हज़ार रु।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker