FeaturedJamshedpurJharkhandNational

आंध्र भक्त श्री राम मन्दिरम में बोगी मंटा एवं रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन सम्पन्न, कल संक्रांति पर नए घंटे का उद्घाटन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे

जमशेदपुर।
आंध्र भक्त श्री राम मन्दिरम में संक्रांति के एक दिन पूर्व सुबह 6 बजे मंदिर प्रांगण में बोगी मंटा जलाया गया, इसके बाद सुबह 9 बजे गोदा देवी का कल्याणम किया गया। इसके बाद दोपहर 3 बजे से रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमे प्रतिभागियों का दो ग्रुप बनाया गया था , एक ग्रुप में 14 वर्ष से कम उम्र के 42 बच्चियो का एवं दूसरे ग्रुप में 14 वर्ष से बड़े 100 महिलाओं का ग्रुप बनाया गया था। रंगोली बनाने के लिये 1 घंटे का टाइम दिया गया था। रंगोली प्रतियोगिता में दक्षिण भारतीय महिलाओं का उत्साह देखते ही बनता था । प्रतियोगिता में चयन करने के लिये जज के तौर पर आंध्र भक्त श्री राम मन्दिरम मध्य विद्यालय की प्रिंसिपल श्रीमती निशा वाणी, श्रीमती जी रूपा, श्रीमती मनी राव थी। प्रतियोगिता की अवधि समाप्त होने के बाद जजो ने जूनियर ग्रुप से प्रथम विजेता के ट्विंकल श्रुति 34 नंबर , द्वितीय विजेता अर्शिता कुमारी 29 नंबर, तृतीय विजेता साधना 4 नंबर का चयन किया गया। सीनियर ग्रुप से प्रथम विजेता श्रीमती टी हेमलता 21 नंबर, द्वितीय विजेता श्रीमती एस पूजा 22 नंबर, तृतीय विजेता श्रीमती अनुराधा 48 नंबर का चयन किया गया। इन सभी विजेताओं को कल 15 जनवरी को शाम को मंदिर में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम के अवसर पर पुरस्कार दिया जायेगा। कॉन्सुलेशन प्राईज सभी 137 प्रतिभागियों को दिया जायेगा।


आंध्र भक्त श्री राम मंदिरम बिस्टुपुर में संक्रांति के अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किया जा रहे हैं कार्यक्रम के पूर्व पूरे मंदिरम की आकर्षक रंगाई एवं विधुत सज्जा की गई है।
संक्रांति सम्बरालु के अवसर पर 15 जनवरी को पुण्य कालम सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक है। 15 जनवरी को दोपहर 3 बजे से 4 बजे तक मंदिर के गीतामंडप में तेलुगु भाषी सुहागिन महिलाओं के द्वारा एक दूसरे को पसबु(हल्दी पावडर) कुमकुम आदान प्रदान करेंगे।


शाम 5 बजे से 6 बजे तक महिलाओं द्वारा कोलाटम किया जायेगा एवं शाम 6 बजे से तेलुगु भाषी स्थानीय बच्चो एवं बच्चियों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेगे। प्रत्येक वर्ष की भांति पूरे जमशेदपुर के हजारो भक्त सपरिवार भगवान का दर्शन कर एक दूसरे को संक्रांति की बधाई देकर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आनंद लेते है।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker